Cover

पूर्वोत्तर के चार राज्यों में परिसीमन के लिए जल्द विधेयक लाएगी सरकार

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने संसद के आगामी मानसून सत्र में चर्चा के लिए एक विधेयक को सूचीबद्ध किया है, ताकि हाल में पूर्वोत्तर के चार राज्यों की खातिर गठित परिसीमन आयोग को कानूनी समर्थन दिया जा सके। लोकसभा द्वारा जारी बुलेटिन में कहा गया है कि जनप्रतिनिधित्व (संशोधन) विधेयक, 2020 जनप्रतिनिधित्व कानून, 1950 के अनुच्छेद आठ-ए में संशोधन करेगा।

इसी साल मार्च में कानून मंत्रालय ने असम, मणिपुर, नगालैंड और अरुणाचल प्रदेश में लोकसभा और विधानसभा क्षेत्रों के नए सिरे से सीमांकन के लिए परिसीमन आयोग की अधिसूचना जारी की थी। इसके अलावा केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर के लिए भी परिसीमन आयोग का गठन किया गया था। जून में चुनाव आयोग के पूर्व कानूनी विशेषज्ञ एसके मेंदीरत्ता ने चुनाव आयोग से कहा था कि अधिसूचना गैरकानूनी है। उन्होंने कहा था कि जनप्रतिनिधित्व कानून, 1950 के अनुच्छेद आठ-ए के तहत पूर्वोत्तर के चार राज्यों में परिसीमन का अधिकार चुनाव आयोग के पास है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

विकास के सफर में यदि तेजी से आगे बढ़ना है तो कनेक्टिविटी पर फोकस करना होगा     |     मिर्जापुर में मिलावटी शराब पीने से दो की मौत, डीएम ने सीएमओ को दिया जांच का आदेश     |     UP विस चुनाव को लेकर बोले पुनिया- कांग्रेस जीत की प्रबल दावेदार, प्रियंका गांधी के नेतृत्व में हम लड़ेंगे इलेक्शन     |     यूपीः कांग्रेस नेता ने अवैध तमंचे से गोली मारकर की आत्महत्या, जांच में जुटी पुलिस     |     अखिलेश का BJP पर तंज- मुद्दों से भटकाने में भाजपा का जवाब नहीं     |     अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष बोले, कोरोना से न डरे सरकार; कुंभ में की जाएं सभी तरह की व्यवस्थाएं     |     विधानसभा का बजट सत्र आज से, चार मार्च को पेश होगा बजट     |     कुमाऊं मंडल विकास निगम अब प्रोफेशनल्‍स के सहारे बढ़ाएगा आय, नियुक्‍त‍ि प्रक्रिया शुरू     |     शहीद के नाम पर बनी सड़क की दुर्दशा देखिए, जान जोखिम में डालकर आते जाते हैं राहगीर     |     तीन मिनट में मिलेगी किसी भी स्थान की सटीक जानकारी, सर्वे ऑफ इंडिया देशभर में स्थापित कर रहा 900 कोर्स स्टेशन     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890