Cover

कानपुर की युवती को अयोध्या की युवती से हुआ प्यार, पति-पत्नी बन पहुंचे थाने

अयोध्याः उत्तर प्रदेश में समलैंगिक शादी का एक मामला सामने आया है। जहां अयोध्या की रहने वाली एक लड़की को कानपुर में रहने वाली लड़की से ही प्यार हो गया। दोनों ने मंदिर में एक-दूसरे से शादी कर ली। जिसके बाद दोनों कोतवाली सिटी में पहुंची और पुलिस को बताया कि वह बालिग हैं और दोनों शादी कर ली है।

जानकारी के मुताबिक, अयोध्या में कानपुर की रहने वाली एकता अपनी मौसी के घर अयोध्या के साहबगंज मोहल्ले में आती थी। साहबगंज की रहने वाली एक अन्य युवती से उसको प्यार हो गया। 2 साल तक चले इस प्यार की खबर जमाने को आज लगी। जब दोनों ने आकर अयोध्या कोतवाली सिटी में पुलिस को बताया कि वह बालिग है और उन्होंने शादी कर ली है और अब वह पति पत्नी हैं।

साधारण परिवार की रहने वाली दोनों युवतियों ने कानपुर के तपस्वी मंदिर में शादी की। जब दोनों अयोध्या कोतवाली सिटी पहुंची तो एक युवती ने पुरुष के तो दूसरी ने बकायदा दुल्हन की तरह श्रृंगार कर रखा था। पैर की उंगलियों में शादी का विछुआ था तो माथे पर सिंदूर और हाथ में मेहदी लगाई हुई थी।

पुलिस की मानें तो इन दोनों युवतियों के परिवार वाले भी इस शादी के खिलाफ नहीं है। लिहाजा युवतियों के बालिग होने और परिवारीजन द्वारा सहमति जताने के बाद अब दोनों साथ रहने के लिए स्वतंत्र हैं। अब यह आगे देखना है कि समाज से लड़ते हुए इनका साथ कितने दिनों तक बना रहता है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

कानपुर सेंट्रल पर मिले 1.40 करोड़ रुपये की दावेदारी में क्यों हुआ विलंब, विशेषज्ञों ने समझाया पूरा गणित     |     इनाम घोषित होने के बाद बाहुबली धनंजय सिंह पर कसेगा शिकंजा, करोड़ों की अवैध सम्पत्ति होगी जब्त     |     एक और रहस्य से उठा पर्दा, चेकिंग होती तो पहले दिन ही पकड़ा जाता विकास दुबे     |     प्रमुख सचिव समाज कल्याण बीएल मीणा के दुर्व्यवहार से आहत समाज कल्याण निदेशक बीमार, भर्ती     |     उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने ली कोरोना वायरस वैक्सीन की पहली डोज     |     सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने गोरखपुर में सुनी जनता की फरियाद, समस्याओं के समाधान का दिया आश्‍वासन     |     दहेज में कार नहीं देने पर परिवार ने महिला को पीटकर घर से निकाला, पांच पर दर्ज किया मुकदमा     |     आनंद अखाड़े की अलग से होगी पेशवाई, किसी अखाड़ों के संत-महात्मा हो सकते हैं शामिल- नरेंद्र गिरि     |     उत्‍तराखंड में स्वास्थ्य के मोर्चे पर दिख रही नई उम्मीद, बुनियादी ढांचे को सुदृढ़ करने पर जोर     |     चुनावी साल में योजनाओं पर दिल खोलकर खर्च करेगी सरकार     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890