Cover

शान से जिए और उसी शान से चले गए राहत इंदौरी, डॉक्टरों की गाइड लाइन के अनुसार हुए सुुपुर्द ए खाक

इंदौर: उर्दू अदब के लिए पूरी दुनिया में जाना जाने वाला इंदौर का वो नाम जिसे आप और दुनिया राहत इन्दोरी के नाम से जानते थे, दुनिया से जाने के बाद भी उस अजीम फनकार ने अपनी मौत के बाद भी अदब को सामने रखा, और डॉक्टर राहत इंदौरी की नमाजे जनाजा भी कोविड प्रोटोकोल के तहत अदा की गई।

डॉक्टर राहत इंदौरी जब दुनिया से रुखसत हुए तो कोरोना महामारी पूरे जोर पर थी, और ऐसे में डॉक्टर साहब का दुनिया से जाना उनके चाहने वालों को अपने से दूर भी रखना और मजहबी मामलात पूरे करना ये सब हुआ। शासन की गाइड लाइन का पूरा पूरा ख्याल रखते हुए नमाजे जनांजा पढ़ी गई, वो भी शारीरिक दूरी बनाकर और फिर राहत साहब के पार्थिव शरीर को कब्रिस्तान में सुपुर्द ए खाक किया गया। राहत इंदौरी खुद दुनिया से चले गए लेकिन अदब का साथ मौत के बाद भी ना खुद भूले और ना ही परिवार को भूलने दिया।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान दो दिन के वाराणसी दौरे पर पहुंचे, बोले – सर्दी के कारण बढ़ा है गैस का दाम     |     बरेली, मेरठ और मथुरा में विकास योजनाओं को परखेंगे मंत्री श्रीकांत शर्मा     |     यूपी में बेखौफ बदमाशों ने सपा नेता के भाई की गोलियों से भूनकर की हत्या     |     जमीनी विवाद को लेकर ठाकुरों और दलितों के बीच खूनी संघर्ष, 10 लोग घायल     |     अमेठी: हादसे का शिकार हुई डबल डेकर बस, 25 घायल यात्रियों में से 2 की हालत गंभीर     |     अमरपुर में काट दिए सात साल पुराने 171 पेड़, तीन लाख आंकी जा रही कीमत, छह पर केस     |     कांग्रेस सदन में उठाएगी कोरोना योद्धाओं का मामला, कर्मचारियों के बीच पहुंच प्रीतम सिंह ने दिया आश्वासन     |     कैबिनेट बैठक : मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना पर कैबिनेट की मंजूरी     |     उत्तराखंड सरकार के चार साल पर 18 मार्च को राज्यभर में कार्यक्रम, वर्चुअली संबोधित करेंगे सीएम     |     नैनीताल में भाई को वीडियो काल पर बताकर नैनी झील में कूदा उप्र निवासी युवक, मौत     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890