Cover

IPL की 8 टीमों में नहीं मिला मौका तो परेशान होकर मुंबई के गेंदबाज ने किया सुसाइड

मुंबई। मुंबई का एक क्लब क्रिकेटर सोमवार की रात अपने मलाड (पूर्व) स्थित घर पर मृत पाया गया, एक दोस्त ने कहा कि उसने खुद को मार डाला, क्योंकि वह आइपीएल की आठ टीमों में से किसी में भी जगह नहीं बना सका था। मुंबई का ये क्रिकेटर करन तिवारी है, जिसे लोकल क्रिकेट में जूनियर डेल स्टेन का नाम दिया गया था। करन का एक्शन और कद काठी साउथ अफ्रीकाई दिग्गज गेंदबाज डेल स्टेन से मिलती थी।

27 वर्षीय करन तिवारी को परिजनों ने उससे बेडरूम का दरवाजा खोलने के लिए कहा था, लेकिन उसने सीलिंग फैन से लटकर आत्म हत्या कर ली। पुलिस के मुताबिक, रात को साढ़े दस बजे गोकुलधाम कोनु कंपाउंड में करन तिवारी ने सुसाइड किया है। पुलिस ने ADR (Accidental Death Report) दर्ज कर ली है। कुरार पुलिस स्टेशन के सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर ने कहा है, “हमने एडीआर दर्ज कर ली है और मामले की जांच जारी है।”

कुरार पुलिस के सूत्रों के अनुसार, 19 सितंबर को यूएई में शुरू होने वाले आइपीएल में नहीं चुने जाने के बाद करन उदास था। सूत्र ने बताया, “करन ने उदयपुर में अपने बेस्ट फ्रेंड को फोन करके बताया कि वह आत्महत्या करने जा रहा है। आइपीएल में खेलने का मौका नहीं मिलने के बाद वह उदास था। उसके दोस्त ने करण की बहन को सूचित किया जो उसी शहर में रहती है। उसकी बहन ने उसकी मां को बताया, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। करन को अस्पताल पहुंचने से पहले ही मृत घोषित कर दिया गया था।

बीसीसीआइ के नियमों के अनुसार केवल वे खिलाड़ी जिन्होंने किसी भी आयु वर्ग में राज्य की टीम का प्रतिनिधित्व किया है, वे आइपीएल नीलामी में प्रवेश करने के लिए पात्र हैं, लेकिन करन ने कभी राज्य के लिए प्रथम श्रेणी, लिस्ट या टी20 मैच नहीं खेला था। हालांकि, करन अक्सर आइपीएल टीमों के लिए वानखेड़े में पिछले सीजन में गेंदबाजी किया करते थे, लेकिन उनको मौका इसलिए नहीं मिला, क्योंकि बीसीसीआइ के नियमों पर वे खरे नहीं उतरते थे।

करन के करीबी दोस्तों में से एक ने कहा, “वह एक राज्य टीम के लिए चुने जाने की उम्मीद कर रहा था। वह उनमें से कुछ के साथ बातचीत कर रहा था। वह एक बहुत ही होनहार क्रिकेटर था और उसने अपनी आखिरी व्हाट्सएप स्टेटस पर अपनी गेंदबाजी और बल्लेबाजी के वीडियो अपलोड किए थे। चौंकाने वाली बात ये है कि उसने ऐसा कठोर कदम उठाना चुना।” पुलिस सूत्रों ने यह भी कहा कि करन तनाव में था, क्योंकि उसके पास कोई नौकरी नहीं थी।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

अखिल भारतीय परिषद के दूसरी बार प्रांतीय सदस्य बने शुभम राजावत     |     Shabnam Ali की फांसी को लेकर निर्भया के दोषियों के वकील एपी सिंह ने दिया सबसे अलग बयान     |     RLD सुप्रीमो अजित सिंह ने भाजपा सरकार पर साधा निशाना, बोले- कुछ भी कर लो, नहीं रुकेगा विरोध     |     अखिलेश को भाया केमिकल इंजीनियर का इटावा पर रैप, अब सपा पर बनवाएंगे एलबम     |     यूपी में कोरोना से संक्रमित 108 नए रोगी मिले, सीएम योगी का निर्देश- संकट अभी टला नहीं, बरतें सर्तकता     |     यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा- विधायक मुख्तार अंसारी की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध     |     उत्तराखंड भाजपा का चिंतन शिविर 12 मार्च से दून में, विधानसभा चुनाव की रणनीति पर होगा मंथन     |     मासूम से छेड़छाड़ पर युवक को पांच साल की कैद     |     केंद्र को सौंपा चौखुटिया में हवाई पट्टी का प्रस्ताव, गैरसैंण तक पहुंच होगी आसान     |     उत्तराखंड: महिला अधिकारी ने शासन के अधिकारी पर लगाए आरोप, पत्र भेजकर की कार्यवाही की मांग     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890