Cover

बेरूत में जंग के बाद जैसा दृश्य 100 की मौत, 4000 घायल भी

बेरूत। इजरायल से संघर्ष, गृह युद्ध और आतंकी हमलों से जूझ रहे लेबनान की राजधानी बेरूत ने मंगलवार जैसा धमाका पहले कभी नहीं देखा। यहां किसी जंग के बाद जैसा दृश्य था। कम से कम 100 लोगों की मौत हो चुकी है। 4000 से अधिक लोग अस्पतालों में भर्ती हैं।

धमाका कितना भीषण था, इसका अंदाजा बेरूत के गवर्नर मारदन अबोद के बयान से लगाया जा सकता है। वे रोते हुए बोले, ‘जैसा जापान के हिरोशिमा और नागासाकी में हुआ, मुझे वैसा ही महसूस हुआ। जिंदगी में इतनी तबाही कभी नहीं देखी।’ धमाके की गूंज 160 किलोमीटर दूर साइप्रस तक सुनाई दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना पर गहरा दुख जताया है।

विस्फोट की वजह साफ नहीं

यह धमाका बेरूत बंदरगाह के पास स्थित एक गोदाम में हुआ। राष्ट्रपति मिशेल ओउन ने कहा कि 2014 में एक जहाज से जब्त 2,700 टन अमोनियम नाइट्रेट यहां रखा हुआ था। इसका इस्तेमाल फर्टिलाइजर और बम बनाने में किया जाता है। बिना किसी सुरक्षा इंतजाम के, यह छह साल तक यूं ही पड़ा रहा। ऐसी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जा सकती। हालांकि, अभी भी यह स्पष्ट नहीं है कि आग कैसे लगी, जिससे बाद में धमाका हुआ। एक अंदेशा यह भी है कि आग वेल्डिंग की चिंगारी से भड़की। वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि हमारे सैन्य अधिकारियों का अनुमान है कि यह कोई दुर्घटना नहीं थी। यह किसी बम हमले का नतीजा हो सकता है।

हर तरफ बर्बादी, बारूद की गंध

बुधवार की सुबह यहां किसी जंग के बाद जैसा दृश्य था। हर तरफ बर्बादी और बारूद की गंध। धुआं अब भी उठ रहा था। धमाके से आसपास की अनगिनत इमारतें ध्वस्त हो चुकी थीं। स्थानीय मीडिया के अनुसार, धमाके के बाद अस्पतालों में अफरा-तफरी की स्थिति पैदा हो गई। कई घायलों को वक्त पर इलाज नहीं मिल पाया। भीषण आर्थिक संकट और स्वास्थ्य सेवाओं की लचर स्थिति के बीच अस्पतालों में भारी भीड़ जुटने से कोरोना संक्रमण में भी तेजी आने की आशंका जताई जा रही है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा शोक जताते हुए महासचिव एंतोनियो गुतेरस ने कहा इस घटना पर गहरा दुख हुआ है। मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।

भारत की ओर से हेल्पलाइन नंबर किए गए जारी
बेरूत में धमाके के बाद लोगों से शांती बनाए रखने की अपील की गई है। वहीं, भारतीय एंबेसी ने बेरूत में फंसे लोगों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। बेरूत में हुए धमाकों को लेकर भारतीय दूतावास की तरफ से कहा गया है कि सभी संयम बनाए रखें। साथ ही अगर किसी भी भारतीय को मदद की जरूरत हो तो वो दूतावास के हेल्पलाइन नंबर 01741270, 01735922, 01738478 पर संपर्क कर सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह का युवा मोर्चा अध्यक्ष परवेश कटियार की टीम ने किया भव्य स्वागत     |     चमोली की ऋषिगंगा झील से पानी निकालने का साइफोनिक एक्शन सुरक्षित तरीका, आइआइटी रुड़की के वैज्ञ‍ानिकों ने भेजी रिपोर्ट     |     भराड़ीसैंण में महिलाओं और ग्रामीणों पर लाठीचार्ज के खिलाफ विपक्ष का हल्ला बोल     |     भाजयुमो ने क्षेत्रों में समाज कल्याण विभाग के कैंप लगाने की मांग की     |     हरिद्वार में जूना अखाड़ा और अग्नि अखाड़े की पेशवाई शुरू, देखें तस्‍वीरों में     |     सेना भर्ती रैली में नैनीताल व धारी तहसील के 444 युवा दौड़ में सफल     |     बढ़ती महंगाई के विरोध में कांग्रेस ने सरकार का पुतला फूंका     |     वाह रे खाकीः बीच सड़क से पुलिस ने भाई को उठाया, छोड़ने के लिए बहन से मांगा 2 लाख     |     बजट पारित: पंचायत चुनाव और कोरोना के मद्देनजर विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित     |     महाशिवरात्रिः भक्त नहीं कर सकेंगे बाबा विश्वनाथ का स्पर्श, ये रहेगा दर्शन-पूजन का नियम     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890