Cover

मौसम बिगड़ने के आसार जल्द, IMD ने इन इलाकों में जारी किया भारी बारिश का अलर्ट

नई दिल्ली। जुलाई का महीना चल रहा है और यह माह बारिशों के लिए जाना जाता है। हालांकि, पुराने लोगों के मुताबिक, उतनी बारिश नहीं हुई है, जितनी होनी चाहिए। आपको बता दें कि यह बात उत्तर भारत के कुछ राज्यों के लिए कही गई है। बाकी बिहार और महाराष्ट्र में भारी बारिश से बाढ़ की नौबत है और असम में बाढ़ से लाखों लोग प्रभावित हो गए हैं। वहीं, आगामी मौसम की बात करें तो कई राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। बात दिल्ली-NCR और आसपास के इलाकों की करें तो वहां भी मौसम पिछले कई दिनों से खराब चल रहा है और कुछ इलाकों में बूंदाबांदी की भी खबर मिली। अब मौसम विभाग ने कुछ शहरों के लिए अलग से ही अलर्ट जारी किया है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बताया कि सौराष्ट्र-कच्छ, अरुणाचल प्रदेश-असम-मेघालय में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा और हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, गुजरात क्षेत्र, मध्य महाराष्ट्र, कोंकण और गोवा, तेलंगाना, तटीय कर्नाटक और केरल-माहे में पृथक स्थानों पर भारी वर्षा की चेतावनी जारी की गई है। इसके अलावा पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

वहीं, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, बिहार, झारखंड, गांगेय पश्चिम बंगाल, असम-मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम-त्रिपुरा, केरल-माहे, तमिलनाडु-पुडुचेरी, तटीय आंध्र प्रदेश-यनम और रायलसीमा में अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ आंधी तूफान का अलर्ट जारी हुआ है।

यूपी के कुछ इलाकों में आज बारिश होगी: आईएमडी

उत्तर प्रदेश में कुछ स्थानों पर अगले कुछ घंटों में बारिश होने की संभावना शुक्रवार को आईएमडी ने जताई थी। मौसम विभाग द्वारा सुबह के समय यह पूर्वानुमान लगाया गया था। मौसम विभाग ने ट्वीट किया, ‘अगले दो घंटों के दौरान खुर्जा, बुलंदशहर, झांगिराबाद, ग्रेटर नोएडा, गुलाटी, सियाना, और नरौरा के आसपास के क्षेत्रों में गरज के साथ बारिश होगी।’ उस दौरान आईएमडी ने आज हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पूर्वी राजस्थान और पश्चिम बंगाल में बारिश होने की संभावना जताई थी।

वहीं, IMD ने अपने बुलेटिन में चेतावनी जारी करते हुए कहा कि मछुआरों को सलाह दी जाती है कि वे इन इलाकों में समुद्र में न जाएं।

मौसम की जानकारी देने वाली संस्था स्काइमेट ने देश में बने मौसमी सिस्टम की जानकारी देते हुए बताया कि मानसून की अक्षीय रेखा इस समय जैसलमर, अजमेर, ग्वालियर, सतना, डाल्टनगंज, दिघा होते हुए बंगाल की खाड़ी के उत्तरी हिस्सों तक बनी हुई है। दक्षिणी झारखंड और इससे सटे मध्य प्रदेश पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। दक्षिणी उत्तरी प्रदेश पर भी एक चक्रवाती सिस्टम बना हुआ है। उधर, बताया गया कि पश्चिमी तटों पर महाराष्ट्र के दक्षिणी कोंकण गोवा क्षेत्र से केरल तक एक ट्रफ बना हुआ है।…और दक्षिणी पाकिस्तान और इससे सटे भागों पर भी एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बने होने की बात कही।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

चार गुना बढ़े किराए के साथ एक्सप्रेस बनकर चलने के लिए तैयार हुईं पैसेंजर ट्रेनें     |     सीरियल दुष्कर्मी हर महीने 3 महिलाओं से करता था दुष्कर्म, एसओ करते कार्रवाई तो बच जाती 2 महिलाएं     |     BJP सांसद के बेटे ने गढ़ी झूठ कहानी, बाइक सवारों ने नहीं बल्कि साले से खुद मरवाई थी गोली     |     बहन के प्रेमी को फंसाने के लिए भाई ने चली थी ये खौफनाक चाल, ऐसे हुआ खुलासा     |     जमीनी विवाद में सपा नेता की गोली मारकर हत्या, बेटे ने SDM पर लगाए ये गंभीर आरोप     |     खतरे में नैनीताल व अल्मोड़ा जनपद को जोड़ने वाला ब्रिज, रैंप पर मिट्टी बिछाकर हो रही आवाजाही     |     कोविन पोर्टल की सुस्ती के बाद भी बढ़ा टीकाकरण का ग्राफ, तीन गुना अधिक लोगों को लगा टीका     |     जाली दस्तावेजों पर उत्तराखंड, सिक्किम और हिमाचल से पाकिस्तान के साथ अन्य देश भेजे गए थे व्यक्ति, ऐसे खुला मामला     |     कुंभ में 18 हजार क्षमता के शेल्टर बनेंगे, एसओपी और राज्य सरकार की कार्यवाही पर लगी मुहर     |     उत्तराखंड के सभी शहरी निकायों में सर्किल रेट के आधार पर संपत्ति कर, दो विधेयकों को मंजूरी     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 1234567890